सामान्य तौर पर, फेलियर की परिकल्पना में बहुत सी गलतफहमीयां होती हैं जिन्हें हमें ठीक से समझने की ज़रुरत है।

वास्तव में फेलियर जैसी कोई चीज़ नहीं होती। तब तक नहीं जब तक आप अपने फेलियर से कुछ सीख नहीं लेते। कहने का मतलब ये है कि लाइफ में जब कभी भी हम फेल होते हैं तो हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है और जो अपने फेलियर से भी कुछ नहीं सीख पाता, वास्तव में वही फेलियर होता है।

यहाँ हम कुछ ऐसी बातें शेयर करना चाहते हैं जो फेल होने वाले लोग अक्सर करते हैं। कोशिश कीजियेगा कि आप ऐसे काम कभी न करें।

1. ऐसी उम्मीदें रखना जो वास्तविक न हों

अगर कोई व्यक्ति साल में कुछ नहीं कमाता हो और उसके बावजूद किसी चमत्कार की उम्मीद में ये सोच के बैठा रहे कि वो बहुत जल्दी करोड़पति बन जाएगा तो निश्चित रूप से वो फेल होगा ही। जब ऐसी उम्मीदें टूटेंगी तो उसे फेलियर ही समझा जाएगा।

2. निगेटिविटी पर अधिक कोकस करना

सोचने का नजरिया लाइफ में बहुत ज्यादा महत्त्व रखता है क्यूंकि सोच ही इंसान को एक दुसरे से अलग बनाती है। कुछ लोग निचे गिरने के बाद अपनी गलतियों से सीखते हैं तो कुछ बस शिकायत ही करते रहते हैं।

3. किसी से मदद न माँगना

अगर आप सोचते हैं आपको किसी के मदद की ज़रुरत नहीं तो हम इतना ही कहेंगे, ‘गुड लक’। हर किसी को मदद की ज़रुरत होती लेकिन कुछ लोग इस बात से इनकार करते रहते हैं। आत्मग्लानि या पछतावे से बचने के लिए किसी से एक बार मदद मांग के देखिये।

4. फेलियर को एक विकल्प समझना

जो वास्तव में अपनी लाइफ में सक्सेसफुल होते हैं वो लोग फेलियर को किसी विकल्प के रूप में नहीं देखते, उनके पास बस एक ही विकल्प होता है सक्सेसफुल होना। फेलियर तो बस एक मानसिक परिकल्पना है। बेहतर होगा आप इसके बारे में न सोचें।

5. जिस काम में वो अच्छे हैं उसे छोड़कर, उन कामों की तरफ भागना जिनमें अधिक पैसा है

अक्सर ऐसा देखने को मिलता है कि वो जिस काम में माहिर हैं उसे करने के बजाय उन कामों को करने में रूचि दिखाते हैं जिनमें ज्यादा पैसा है या जो ज्यादा प्रसिद्ध है। ऐसा करना उचित नहीं, आपको उसी काम में सफलता मिल सकती है जिस काम में आप दूसरों से बेहतर हैं।

  Subscribe  
Notify of